What is NEFT in Hindi? How Does It Work?

What is NEFT in Hindi: एक समय ऐसा था जब पैसों का लेन देन सिर्फ हाथों से करते थे। किसी तरह का भी काम हो cash देकर ही सारे काम किये जाते थे चाहे फ़ी deal कितनी बड़ी क्यूँ न हो।

लेकिन जब से बैंको का दुनिया में उदय हुआ तब से लोग पैसो को saving करने के लिए banks का इस्तेमाल करने लगे है।

फिर लोगों के बीच पैसे के लेन  देन  बढ़ने लगे और अब तो लोगों को बैंक भी नहीं जाना पड़ता है। सारे लेंन देन के काम घर बैठे ऑनलाइन हो जाते हैं।

2016 में Jio के आने बाद इंटरनेट से बैंक का सारा काम आसानी से हो जाता है, अगर आप इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं तो NEFT के बारे में सुना होगा (What is NEFT in Hindi) और इसमें कितने टाइम लगता है पैसे ट्रांसफर होने में?

बैंक से जुड़े हर नियम की जानकारी रखना जरुरी है ताकि आपको अपना काम करने में आसानी हो और किसी तरह की कोई परेशानी न हो।

सभी लोग बैंक से जुड़े हुए है और बैंक से बहुत सारे लाभ उठाते है, कुछ वक़्त पहले लोगों को बैंक से जुड़े काम करने के लिए लम्बी लाइन लगनी पड़ती थी।

लेकिन आज ऐसा वक़्त है की लोगों को लाइन में खड़े होने की जरुरत नहीं है क्यूंकि जो काम हम बैंक जाकर करते हैं लगभग कुछ कामों को छोड़ दे तो घर बैठे ही वो काम हम ऑनलाइन बैंकिंग से कर लेते हैं

इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल कर के हम अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को घर बैठे ही पैसे भेज सकते है। ऑनलाइन पैसे भेजने के तीन तरीके हैं NEFT, RTGS, और IMPS।

वैसे तो इन सभी तरीकों से हम पैसे भेज सकते हैं लेकिन इन में से आज में आपको NEFT in Hindi के बारे में जानकारी दूँगा। NEFT क्या होता है? (What is NEFT in Hindi)

ऑनलाइन पैसे ट्रांसफर करने में NEFT हमे काफी मदद करता है और आसानी से पैसे भेजने में सहूलियत देता है, लेकिन NEFT कैसे करता है ये जानना भी जरुरी है।

What is NEFT in Hindi-NEFT क्या है?

NEFT इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर करने का एक ऐसा तरीका है जिसके माध्यम से किसी भी बैंक से एक खाताधारक दूसरे बैंक दूसरे बैंक के खाताधारक को पैसे भेजने की सुविधा देता है।

NEFT का full form, National Electronic Funds Transfer होता है। जिसे हिंदी में राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक निधि अंतरण भी बोलते हैं और ये रिज़र्व बैंक के अंतर्गत काम करता है।

NEFT की शुरुआत नवंबर 2005 में  जिसका कार्यभार Institute for Development and Research in Banking (IDBRT) को सौंपा गया था।

भारत में जितने बैंक NEFT enabled हैं उनमे खाताधारक इस सुविधा का इस्तेमाल कर के पैसों का transfer बहुत ही आसानी से कर सकते हैं, इसमें इलेक्ट्रॉनिक संदेशों का उपयोग भी किया जाता है।

RTGS के विपरीत इसमें fund transfer real time के आधार पर नहीं होता, NEFT working days में सुबह 8 बजे से शाम 7 :30 बजे के बीच काम करती है।

अगर इस समय के बाहर किसी समय में कोई fund transfer शुरू किया जाता है तो उस वक़्त transfer तो नहीं होगा लेकिन अगले दिन बैंक खुलते ही ये fund transfer complete होता है।

महीने के Second और Fourth Saturday के अलावा Sundayऔर Govt. holidays के दिनों में fund transfer नहीं किया जाता है।

NEFT की सुविधा पुरे देश में लगभग 101 बैंकों के 82500 शाखाओं में से 74600 शाखाओं में उपलब्ध है।

इसके अलावा जो बैंक NEFT enabled हैं उन में online banking के माध्यम से उनके website में ये सेवा काम करती है।

इस सेवा काफी अधिक लोकप्रियता हासिल की है इसका मुख्य कारण है की ये समय की बचत करती है और इसमें fund transfer करना आसान है।

How does NEFT Works? NEFT कैसे काम करता है?

मैं यहाँ आपको NEFT द्वारा होने वाले fund transfer के बारे step by step बताने  जा रहा हूँ जिससे आप भी इसके working process को आसानी से समझ जायेंगे।

NEFT की सुविधा 2 तरीकों से दी जाती है जिसमे से पहली online है और दूसरी offline। Offline की बात करे तो कुछ बैंक ऐसे हैं जो NEFT की सुविधा ATM के द्वारा भी देते हैं।

Online facility के लिए customer को अपने account में online banking activate करना होता है इसके लिए उसे beneficiary detail देने होते हैं जैसे Name, Address, Bank name, Branch name, IFSC Code, Account type, Account Number आदि।

NEFT in Hindi: अब customer द्वारा दिए गए जानकारी को bank message के रूप में तैयार कर के pooling centre भेजता है जिसे NEFT service centre भी कहा जाता है।

उसके बाद pooling सेंटर उस message को NEFT clearing center भेजता है जिससे की उसे अगले available batch के लिए शामिल किया जाये, इसे National Clearing Cell, भारतीय रिज़र्व बैंक मुंबई चलाती है।

उसे बाद Clearing center destination बैंक के अनुसार सभी funds को छांटता है उसके बाद सभी originating बैंक से fund receive कर के destination बैंक को भेजने के लिए receiving entries को तैयार करता है।

उसके बाद pooing सेंटर के द्वारा एक एक कर के destination बैंक को message को forward किया जाता है।

इसके बाद सभी destination bank clearing center से message receive करता है और पैसे को beneficiary के account में credit कर देता है।

NEFT fund transfer करने का तरीका

हमने ये पहले ही जाना की NEFT में फंड ट्रांसफर करने का 2 तरीका है जिसमे से एक ऑनलाइन और दूसरा ऑफलाइन है. चलिए एक एक कर के दोनों तरीकों के बारे में जानते हैं  द्वारा फंड ट्रांसफर कैसे किया जाता है.

Online Method

NEFT द्वारा फंड ट्रांसफर करने के लिए इंटरनेट बैंकिंग का active होना जरुरी है. अगर आपके पास इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा नहीं है तो आप बैंक जाकर इसके लिए आवेदन कर सकते हैं. ऑनलाइन फंड ट्रांसफर करने के लिए सबसे पहले हमे अपने बक की वेबसाइट में लॉगिन करना है.

इसके बाद बारी आती है की आप किस beneficiay को फंड ट्रांसफर करना चाहते उसके अकाउंट को add करना.  तो आपको अपने अकाउंट में Add Payee – Add New Beneficiary  में जाकर अपने दोस्त या रिश्तेदार के अकाउंट को add करना है.

अकाउंट add करने पर आपको 30 minutes तक इंतज़ार करना पड़ता है. नया अकाउंट add करने के लिए आपको कुछ जरुरी डिटेल्स की जरुरत पड़ेगी जो मैं आपको यहाँ बता रहा हूँ. Bank Name, Account Number, Name, IFSC Code, Branch Name इत्यादि.

Add new Payee द्वारा नया beneficiary account जोड़ लेने के बाद थोड़ी देर इंतज़ार करने के बाद अकाउंट approve हो जाता है. अब आपको Fund Transfer में जाना है.

Fund Transfer में जाकर आपको Payee को select करना है और Transfer type चुनना है. Transfer methods में आपको RTGS, NEFT और IMPS के ऑप्शन मिलेंगे आपको इन में से बस NEFT select करना है.

इसके बाद बस आपको अपना amount डालना है और Pay में क्लिक करना है. आपका पैसा आपके नए beneficiary को मिल जाएगी.

Offline Method

अगर आप के पास इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा नहीं है तो आप ऑफलाइन भी NEFT द्वारा फंड ट्रांसफर कर सकते हैं.

ऑफलाइन NEFT फंड ट्रांसफर करने के लिए आपको अपने ब्रांच में जाना होगा.

आप जिसे फंड ट्रांसफर करना चाहते हैं उसका नाम,बैंक,ब्रांच का नाम, IFSC code, Account type और account number जैसी details बैंक को देनी होगी.

इसके बाद जितना भी राशि भेजना उस राशि को बताना पड़ता है.

फिर आपको अपने branch वाले बैंक को ये अधिकार देते हैं की वो आपके अकाउंट से उस राशि को debit करे और उस फंड को भेज सके.

इसके बाद सभी जानकारी को फॉर्म में भरकर बैंक आगे का प्रोसेस पूरा कर के fund को beneficiary के अकाउंट में भेज देती है.

NEFT में कितने टाइम लगता है

इस में पैसे के ट्रांसेक्शन के लिए हर घंटे में कुछ बैच का इस्तेमाल होता है. अगर हम बात करें तो ये 12 बैच जो की सुबह 8 बजे से शाम 7 बजे तक चलता रहता है. यही शनिवार के दिन सुबह 8 बजे से 1  बजे तक 6 बैच चलते हैं.

NEFT Transaction Charge

आपको ये जानकारी अवश्य जानना चाहिए क्यों की जब भी आप NEFT द्वारा पैसा भेजते हैं तो अलग अलग राशि के अनुसार आपको कुछ fees चार्ज के रूपमे देना पड़ता है.

ये चार्ज आपके द्वारा भेजे जाने वाले beneficiary को नहि देना होता लेकिन जो भेजने वाला sender होता है उसे इस राशि का भुगतान करना पड़ता है. NEFT transaction के लिए क्या चार्ज देना होता है चलिए इसे जान लेते हैं.

Transaction ChargesNEFT FeesAmounts Rs.10000 के लिएRs. 2.50 + Applicable GSTAmounts Rs. 10,000 से लेकर Rs 1 लाख तकRs. 5 + Applicable GSTAmounts Rs, 1 लाख से Rs. 2 लाख तकRs.15 + Applicable GSTAmounts Rs 2 लाख से Rs. 5 लाख तकRs. 25 + Applicable GSTAmount Rs 5 लाख से 10 लाख तकRs 25 + Applicable GST

ये चार्जेज फिक्स नहीं होते और ये वक़्त के साथ बदलते रहते हैं. इसीलिए आप जिस भी ब्रांच से NEFT tranaction करना चाहते हैं उसके बारे में चार्जेज पता कर लें.

Benefits of NEFT in Hindi

Safe and Effective

ये ऑनलाइन fund transfer करने का बहुत ही आसान और secure तरीका है। इसमें आप किसी भी amount को कम समय में अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भेज सकते हैं।

Low Processing Charges

Internet बैंकिंग या NEFT द्वारा किया जाने वाला transaction काफी सुविधा देता है, इसमें flexible payment option दिए जाते हैं जो काफी किफायती होती है।

इस सुविधा का उपयोग करने के लिए आपको अधिक पैसे खर्च करने की जरुरत नहीं पड़ती, इसके processing charges काफी कम होते है और इसके द्वारा आप fund transfer काफी आसानी से कर सकते हैं।

Higly Dependable

NEFT इंटरनेट बैंकिंग में इस्तेमाल होने वाला एक बहुत ही प्रमुख सुविधा है जो लोगों के बीच काफी poplular हुआ।

इससे bank transaction और online fund transfer यानि भेजना और रिसीव करना काफी आसान हो गया। भारत के सभी बैंक RBI द्वारा संचालित नियमों का पालन करती हैं और इसीलिए ये काफी सुरक्षित माना जाता है।

Disadvantages of NEFT in Hindi

Highly technical

इस तरह की सुविधा की सबसे बड़ी बात ये है की इसका इस्तेमाल करने के लिए computer और internet इस्तेमाल करने का अनुभव होना जरुरी है। यही इस सुविधा के इस्तेमाल में सबसे बड़ी disadvantage है।

हमारे देश में अधिकतर लोग ऐसे हैं जो educated नहीं हैं और बहुत से educated तो हैं लेकिन उन्हें computer और Internet का अनुभव नहीं है। इसी वजह से NEFT का प्रयोग करना सबके लिए संभव नहीं है।

The Risk and Fear of Online Payment

वैसे तो अब online fund transfer को बहुत अधिक secure और safe किया जा चुका है।

लेकिन जब ये सुविधा आयी थी उस वक़्त Internet में सुरक्षा नहीं थी और online banking करने वाले लोगों के मन में ये डर भी होता था की कोई उनके account को access न कर ले।

Conclusion:

आज banking sector बहुत विकसित हो चुका है और लोगों के पास बहुत सारे विकल्प हैं जिससे की वो अपने पैसे की transaction कर सकते हैं।

चाहे फिर Mobile Wallet हो या फिर UPI, या Internet Banking हमारे हाथों में है की हम कैसे अपने पैसे को transfer करते हैं।

आशा करता हूँ कि आपको NEFT क्या है (What is NEFT in Hindi) इसमें कितने टाइम लगता है?पोस्ट अच्छी लगी होगी।

अगर आपको NEFT in Hindi जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के साथ Facebook, WhatsAap या Twitter पर जरुर शेयर करें।

अगर आपको किसी भी तरह की doubt हो या फिर कुछ सवाल या सुझाव है तो आप हमे comment के माध्यम से पूछ सकते हैं।

Leave a Comment